Delhi Gangrape

Latest Hindi News

Delhi gangrape: convicts have not sign of remorse

दिल्ली गैंगरेप के दोषियों की आंखों में पश्चाताप नहीं, डर के थे आंसू-


बहादुर बिटिया के गुनहगार बुधवार को अदालत में सजा सुनने के लिए मौजूद थे। अंग्रेजी में चल रही अदालती कार्यवाही उन्हें समझ में नहीं आ रही थी। फिर भी, शायद उन्हें सजा का आभास हो रहा था। कोई अदालती फैसले की कल्पना से सिहर रहा था, तो किसी की आंखों में आंसू थे, तो कोई गुमसुम था। कार्यवाही खत्म होते ही उनकी बेचैनी बढ़ गई। उन्होंने अपने-अपने वकीलों से यही पूछा कि क्या हुआ है?

पढ़ें: शुक्रवार को सुनाई जाएगी दिल्ली गैंगरेप के दोषियों को सजा

पुलिस सुबह 10 बजकर 55 मिनट पर गुनहगार मुकेश कुमार, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर को लेकर अदालत कक्ष में दाखिल हुई। जैसे-जैसे कार्यवाही आगे बढ़ रही थी, वैसे-वैसे उनके माथे पर चिंता की लकीरें गहरी होती जा रही थीं। विनय की आंखों में आंसू थे और अक्षय गुमसुम था। पवन परेशान था, तो मुकेश के चेहरे की हवाइयां उड़ी हुई थीं। उनकी इस स्थिति को देखते हुए बचाव पक्ष के अधिवक्ता एपी सिंह, विवेक और वीके आनंद ने उनसे बात की।

Source- http://www.jagran.com/news/national-delhi-gangrape-convicts-have-not-sign-of-remorse-10719088.html


Delhi Gangrape topic page

Delhi gangrape topic page -
दिल्ली में 16 दिसंबर को चलती बस में हुई गैंगरेप की वारदात और उस हादसे की भेंट चढ़ी युवती को इन्साफ दिलाने के लिए आज पूरा देश एक साथ खड़ा हो गया है। इस घटना ने दिल्ली पुलिस, प्रशासन और सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है। इस मामले के छह आरोपियों के खिलाफ दिल्ली पुलिस में दायर चार्जशीट में इनके लिए फांसी की मांग की गई है। जनआक्रोश के चलते सरकार अब महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित कानूनों में बदलाव करने पर विचार कर रही है।